Skip to content

12 राशियों के नाम और चिन्ह (Rashi Name in Hindi and English)

हिन्दू धर्म में आस्था रखने वाले लोगों में राशिफल के ऊपर अटूट विश्वास होता है। भारत एक हिन्दू बाहुल्य देश है जहां लोग अत्यधिक आस्तिक है जो कि अपने भविष्य की जानकारी के लिए राशिफल को आधार मानते हैं। इसीलिए अधिकांश लोग दिन की शुरुआत अखबार में छपे अपने नाम की राशिफल पढ़कर शुरू करते हैं। और उसके अनुसार योजना बनाते हैं। ज्योतिष शास्त्र में राशिफल को 12 राशियों के नाम और चिन्ह के आधार पर विभाजित किया गया है।

वास्तव में राशिफल ज्योतिष शास्त्र द्वारा किसी व्यक्ति की भविष्यवाणी करने का विज्ञान है जो कि ग्रह , नक्षत्र और जन्म पर आधारित है। इसलिए आज हमने इस पोस्ट में 12 राशियों के नाम और चिन्ह पर विस्तृत जानकारी साझा किया है । साथ ही हमने राशिफल चेक कैसे करते हैं इसके बारे में भी जानकारी साझा किया है। तो अगर आपको राशिफल में की गई भविष्यवाणी और ज्योतिष शास्त्र पर आस्था है तो यह लेख आपके लिए काफी महत्वपूर्ण है। इस पोस्ट में Rashi Name in Hindi and English जानने के लिए अंत तक बनें रहें।

12 राशियों के नाम (12 Rashi Name)

12 राशियों के नाम और चिन्ह (Rashi Name in Hindi and English)

भारतीय प्राचीन सभ्यता में वैदिक ज्योतिष शास्त्र का बड़ा महत्व है। जिसमें कुल 12 राशियों के नाम और चिन्ह का वर्णन मिलता है। प्रत्येक राशि का स्वामी (आधार) ग्रह और नक्षत्र को माना जाता है। और इसी ग्रह नक्षत्र की चाल (गति) के आधार पर राशियों का अनुमान लगया जाता है। जिसे राशिफल कहते हैं।

नीचे आप 12 Rashiyon ke Naam की विस्तृत जानकारी पढ़ सकते है:

  1. मेष
  2. वृषभ
  3. मिथुन
  4. कर्क
  5. सिंह
  6. कन्या
  7. तुला
  8. वृश्चिक
  9. धनु
  10. मकर
  11. कुंभ
  12. मीन

राशियों के चिन्ह की जानकारी

अगर आप सभी 12 राशियाँ के नाम को जान चुके है तो आपको यह भी जानना जरूरी है कि 12 राशियों के चिन्ह कौन-कौन है तो आप नीचे दिए गए फोटो में शास्त्र द्वारा निर्धारित राशियों के चिन्ह को देख सकते है।

राशियों के चिन्ह की जानकारी

12 राशियों के अक्षर (All 12 Rashi Ke Akshar)

ज्योतिष शास्त्र द्वारा निर्धारित 12 राशियों के नाम और चिन्ह में प्रत्येक राशि नाम के शुरू अक्षर द्वारा परिवर्तनीय होता है। हमने आपकी जानकारी के लिए प्रत्येक अक्षर के लिए निर्धारित राशियों के बारे में नीचे बताया है –

क्रमांकसभी 12 राशियों के नामराशियों के अक्षर
1.मेषचू, चे, छो, ला, ली, लू, ले, लो, आ आदि अक्षर आते हैं।
2वृषभ/वृषई, उ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो आदि
3मिथुनका, की, कु, घ, ङ, छ, के, को, ह
4कर्कही, हू, हे, हो, डा, डी, डु, डे, डो
5सिंहमा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टु, टे
6कन्याढो, पा, पी, पु, ष, ण, ठ, पे, पो
7तुलारा, री, रु, रे, रो, ता, ती, ते
8वृश्चिकतो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू
9धनुये, यो, भा, भी, भू, ध, फा, ढा, भा, भे
10मकरभो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी।
11कुंभगू, गे, गो, स, सी, सू, से, सो, द
12मीनदी, दु, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची

Rashi Name in Hindi and English

जैसा कि हम पहले बता चुके हैं कि 12 राशियों के नाम और चिन्ह ज्योतिष शास्त्र का एक पार्ट है इसलिए आमतौर पर राशिफल सिर्फ देवनागरी लिपि में लिखा और पढा जाता है। लेकिन वर्तमान में अंग्रेजी के बढ़ते प्रयोग और उपयोगिता के कारण राशिफल का नाम अंग्रेजी में भी उपयोग किया जाता है। इसलिए हमने Rashi Name in Hindi and English के बारे में भी आपको जानकारी दिए हैं जो कि निम्न है –

SL No.Rashi Name in HindiRashi Name in English
1मेषAries
2वृषभTaurus
3मिथुनGemini
4कर्कCancer
5सिंहLeo
6कन्याVirgo
7तुलाLibra
8वृश्चिकScorpio
9धनुSagittarius
10मकरCapricorn
11कुंभAquarius
12मीनPisces

12 राशियों के स्वामी ग्रह

जैसे कि आपको पता होगा हर राशि के स्वामी ग्रह होते है जिसको जानना बहुत जरूरी है अगर आप राशि पर विश्वास करते है। चलिए अब हम 12 राशियों के नाम और चिन्ह जानने के बाद आगे इस पोस्ट में 12 राशियों के स्वामी ग्रह को जानते है।

क्रमांकराशिराशियों के स्वामी ग्रह
1मेषमंगल गृह
2वृषभशुक्र गृह
3मिथुनबुध गृह
4कर्कचन्द्र देव
5सिंहसूर्य देव
6कन्याबुध गृह
7तुलाशुक्र गृह
8वृश्चिकमंगल गृह
9धनुगृह ब्रहस्पति
10मकरशनि देव
11कुंभशनि गृह
12मीन गृह ब्रहस्पति

सभी 12 राशियों के नाम और उनकी जानकारी

1. मेष (Aries)

Aries (मेष)

ज्योतिष विज्ञान के अनुसार 12 राशियों के नाम और चिन्ह में मेष राशि को प्रथम राशि माना जाता है। ज़िसका स्वामी मंगल होता है। मेष राशि को मेढ़ अर्थात भेड़ के चिन्ह से दर्शाया जाता है। 21 मार्च से 19 अप्रैल के बीच जन्म लेने वाले बच्चों को आमतौर पर मेष राशि का माना जाता है। इस राशि मे जन्म लेने वाले बच्चे सामान्यतः महत्वकांक्षी, अग्रणी और उत्साही प्रवृत्ति के होते है। मेष राशि मे आने वाले शुभ नाम असीम, अवनेश, और अपर्णा आदि।

2. वृषभ (Taurus)

Taurus वृषभ

वृषभ राशि को द्वितीय राशि माना जाता है जिसका राशि चिन्ह बैल या सांड़ को माना गया है। इस राशि मे आने वाले व्यक्ति का स्वामी शुक्र होता है जो कि आमतौर पर शांतिपूर्ण रहना पसंद करते हैं। इस राशि मे जन्म लेने वाले बच्चे सुख और विलासपूर्ण जीवन जीने की कामना करते हैं। वृषभ राशि मे आने वाले शुभ नाम विशांत, उमंग, विकर्तन, विरुष्का, और विदिता आदि हैं।

3. मिथुन (Gemini)

Gemini (मिथुन)

यह राशिफल का तृतीय राशि है जिसका राशि चिन्ह जुड़वा है। बुध को इस राशिफल का स्वामी माना जाता है। इस राशि मे जन्म लेने वाले व्यक्ति अपने वचन के पक्के होते हैं। तथा एक बार जो कार्य मन मे ठान लेते हैं उसे पूरा करके ही रुकते हैं। मिथुन राशि पश्चिम दिशा का द्योतक है इसलिए ये स्वभाव से गर्म माने जाते हैं। मिथुन राशि मे आने वाले शुभ नाम कामिनी, कुमुद, कीर्ति, कामेश, और कामेश्वर आदि।

4. कर्क (Cancer)

Cancer (कर्क)

कर्क राशि को ज्योतिष शास्त्र के अनुसार चौथी राशि माना जाता है। जो कि उत्तर दिशा का परिचायक है। इस राशि को केकड़ा से चिन्हांकित किया जाता है। कर्क राशि का स्वामी चन्द्रमा को माना जाता है इसलिए इस राशि मे जन्म लेने वाले लोग शांत स्वभाव के माने जाते हैं। ज्योतिष विज्ञान के अनुसार इस राशि के अंतर्गत आने वाले लोग को परिश्रमी तथा बड़ी बड़ी योजनाओं का सपना देखने वाले होते हैं। कर्क राशि मे आने वाले शुभ नाम हितेश, हिरेन्द्र, हृतु, हिमांशी, हिमांशु, और धीरेंद्र आदि हैं।

5. सिंह (Leo)

Leo (सिंह)

ज्योतिष विज्ञान के अनुसार 12 राशियों के नाम और चिन्ह में सिंह राशि पांचवी राशि है जो कि पूर्व दिशा का द्योतक है। इस राशि का चिन्ह सिंह को माना जाता है। सिंह राशि का विस्तार 120 अंश से 150 अंश तक निर्धारित किया गया है। सिंह राशि मे जन्म लेने वाले व्यक्ति का स्वामी सूर्य है इसलिए इस राशि के अंतर्गत आने वाले व्यक्ति सूर्य की तरह तेज प्रवृति के माने जाते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सिंह राशि वाले के व्यवहार में राजसी और रौबदार गुण दिखाई देते हैं।सिंह राशि मे आने वाले शुभ नाम मालवी, मानस, माइकल, मैकल, मोक्ष, और महिमा आदि ।

6. कन्या (Virgo)

Virgo (कन्या)

यह छठवीं राशि है। जिसका चिन्ह हाथ मे डाली लिए एक कन्या है। कन्या राशि दक्षिण दिशा का द्योतक है जो कि बुध राशि स्वामी के अंतर्गत आता है। कन्या राशि मे जन्म लेने वाले व्यक्ति संकोची और शर्मीले स्वभाव के होते हैं तथा इस राशि मे जन्म लेने वाले व्यक्ति दिमाग के बजाय दिल से निर्णय लेते हैं। कन्या राशि के अंतर्गत आने वाले व्यक्तियों में पाचन, हृदय सम्बंधित बीमारियों का अत्यधिक संकेत मिलता है। कन्या राशि मे आने वाले शुभ नाम पीयूष, पुविक, पूर्व, पवित्र, पवित्रा, और परमानन्द आदि ।

7. तुला (Libra)

Libra (तुला)

राशि चक्र में तुला राशि को सातवें स्थान में रखा गया है। इस राशि का स्वामी शुक्र ग्रह को माना जाता है। तुला राशि को तराजू के चिन्ह द्वारा इंगित किया जाता है। इस राशि मे जन्म लेने वाले व्यक्ति को विचारों से सम और हर एक बात को तौलकर बोलने वाला माना जाता है। मान्यता है कि इस राशि के लोगों को संगीत, चित्रकारी, बागवानी जैसे शौक होते हैं तथा वणिक बुद्धि होने के कारण विवाद में पड़ने के बजाय समझौता करने में यक़ीन रखते हैं।
तुला राशि मे आने वाले शुभ नाम तोषित, तन्मय, तुषार, तल्लीन, और तुष्टि, आदि।

8. वृश्चिक (Scorpio)

Scorpio (वृश्चिक)

यह राशिफल का आठवां राशि है जिसका स्वामी मंगल को माना जाता है। वृश्चिक राशि का राशि चिन्ह बिच्छु ,चील को माना जाता है। इस राशि मे जन्म लेने वाले व्यक्ति की प्रकृति आमतौर पर निडर ,जिद्दी और अपने शर्तों के अनुसार जीने वाले होते हैं। ऐसे लोगों में रहस्य को अपने अंदर छुपा के रखने की अद्भुत शक्ति होती है। माना जाता है कि वृश्चिक राशि वाले लोगों में प्रकृति के प्रति अदभुत प्रेम होता है। वृश्चिक राशि मे आने वाले शुभ नाम नावीन्य, नभ, निमिषा, नम्रता, नौसाद, और नवम आदि।

9. धनु (Sagittarius)

Sagittarius (धनु)

यह राशिफल का नवां राशि होता है। जिसका स्वामी बृहस्पति को माना जाता है। इस राशि का राशि चिन्ह धनुर्धर होता है। धनु राशि मे जन्म लेने वाले व्यक्ति चंचल व विनोदी स्वभाव के होते हैं। आमतौर पर माना जाता है कि इस राशि मे आने वाले लोग प्रेम के लिए समर्पित होते हैं और अपने दोस्त या प्रेमी प्रेमिका के लिए बहुत वफादार होते हैं। इसके अलावा धनु राशि के अंतर्गत आने वाले लोग काफी आशावादी भी होते हैं। धनु राशि मे आने वाले नाम भुवन, भुवी, भाविका, भाग्येश, और भौमिनी आदि।

10. मकर (Capricorn)

Capricorn (मकर)

ज्योतिष विज्ञान के अनुसार 12 राशियों के नाम और चिन्ह में मकर राशि दसवाँ राशि है। जिसका स्वामी शनि को माना जाता है। मकर राशि को मगरमच्छ के चिन्ह से इंगित किया जाता है। इस राशि मे जन्म लेने वाले व्यक्ति का स्वभाव आत्मकेंद्रित होता है। इस राशि मे आने वाले लोग मितव्ययिता, नीतिज्ञ और विवेकशील बुद्धि के होते हैं। ऐसे लोग महत्वाकांक्षी होते हैं और समाज मे एक अलग पहचान बनाने में सफल होते हैं मकर राशि मे आने वाले शुभ नाम खुश, खुराम, खगेश आदि।

11. कुंभ (Aquarius)

Aquarius (कुंभ)

यह राशिफल का ग्यारहवीं राशि है। जिसका राशि स्वामी अरुण है। कुंभ राशि को कुम्भ से दर्शाया जाता है। कुंभ राशि मे जन्म लेने वाले व्यक्ति अपने उद्देश्य की पूर्ति के लिए अपना सर्वस्व बलिदान कर देते हैं। इस राशि के अंतर्गत आने वाले लोगों में खर्च और बचत के बीच एक अच्छा सामंजस्य बिठाने की कला होती है। गायन, शिक्षण, कलाकार के रूप में इस राशि मे जन्मे जातक को अपना करियर चुनना चाहिए । कुंभ राशि मे आने वाले शुभ नाम श्रीमंत, शार्दूल, श्रीनिधि, शुभा और आदि है।

12. मीन (Pisces)

Pisces (मीन)

यह राशिफल का अंतिम और 12वां राशि है। इसका स्वामी वरुण को माना गया है। इस राशि को मछली के चिन्ह द्वारा इंगित किया जाता है। मीन राशि के जातकों में करुणा की अत्यधिक भावना पाई जाती है। तथा ये लोग दार्शनिक सोच के होते हैं जिनकी विचारों में गहराई होती है।

माना जाता है कि ये लोग अत्यधिक सज्जन प्रवृत्ति के होते हैं इसलिए ऐसे लोगों को कभी कभी नुकसान भी उठाना पड़ता है। मीन राशि के अंतर्गत आने वाले शुभ नाम दिया, दीपांशु, दीक्षा, दिव्यानी, देवकी, और दीनू आदि।

जन्म तिथि के अनुसार कौन सी राशि है कैसे चेक करें?

वैदिक ज्योतिष शास्त्र में 12 राशियों के नाम और चिन्ह का निर्धारण चन्द्रमा की उपस्थिति में नक्षत्रों को आधार मानकर किया जाता है। पूरी पृथ्वी को एक 360° का पिंड मानकर 12 बराबर भागों में विभाजित कर प्रत्येक 30° को एक राशि माना गया है। कहा जा सकता है कि राशिफल का मूल आधार समय को माना गया है।

  1. मेष राशि – 21 मार्च से 20 अप्रेल
  2. वृषभ राशि – 21 अप्रेल से 21 मई
  3. मिथुन राशि – 22 मई से 21 जून
  4. कर्क राशि – 22 जून से 22 जुलाई
  5. सिंह राशि – 23 जुलाई से 21 अगस्त
  6. कन्या राशि – 22 अगस्त से 23 सितंबर
  7. तुला राशि – 24 सितम्बर से 23 अक्तूबर
  8. वृश्चिक राशि – 24 अक्टूबर से 22 नबम्बर
  9. धनु राशि – 23 नवम्बर से 22 दिसंबर
  10. मकर राशि – 23 दिसम्बर से 22 जनवरी
  11. कुंभ राशि – 21 जनवरी से 19 फरवरी
  12. मीन राशि – 20 फरवरी से 20 मार्च

12 राशियों का राशिफल आज का कैसे चेक करें?

जिन भी लोगों को ज्योतिष शास्त्र में विश्वास है वे लोग अपने भविष्य की जानकारी या शुभ कार्य करने से पहले अपना राशिफल जरूर चेक करते हैं। किसी भी व्यक्ति के लिए राशिफल चेक करना बहुत आसान है। अगर आप भी आज का राशिफल जानना चाहते हैं तो हमने बहुत से तरीकों के बारे में बताया है जिसे आप फॉलो कर सभी 12 राशियों का राशिफल आज का चेक कर सकते हैं।

1. दैनिक अखबार

हमारे देश मे बहुत पहले से ही राशिफल जानने के लिए अख़बार का उपयोग प्रमुखता से होता रहा है। अगर आप भी अपना दैनिक राशिफल जानना चाहते हैं तो अखबार आपके लिए बेस्ट विकल्प है। क्योंकि अखबार आपको बहुत आसानी से उपलब्ध हो जाएगा। जिसमें विशेष रूप से एक पेज राशिफल का होता है। इस पेज में सभी राशियों का राशिफल बहुत विस्तृत रूप से दिया रहता है जिसे आप पढ़कर अपना दैनिक राशिफल जान सकते हैं।

2. इंटरनेट

आजकल इंटरनेट के माध्यम से भी राशिफल जानना बहुत आसान हो गया है। इंटरनेट पर बहुत से ऐसे साइट है जो दैनिक राशिफल की जानकारी देते हैं। आजकल इंटरनेट पर अखबार भी उपलब्ध है तो आप वहां से भी अपना राशिफल जान सकते हैं। साथ ही अगर आपको अपना राशि नहीं पता तो इसकी जानकारी भी आपको इंटरनेट के माध्यम से आसानी से पता चल जाएगा।

3. हिंदी पंचांग / कैलेंडर

हिंदी पंचाग एक सरल माध्यम है राशिफल ज्ञात करने का। हमारे घरों में हिंदी पंचांग या जिसे कैलेंडर कहा जाता है तारीख देंखने के लिए यूज किया जाता है। लेकिन सभी कैलेंडर में राशिफल का एक कॉलम जरूर होता है जिसमें विस्तार से राशिफल की जानकारी दी गई होती है। इसलिए आप कैलेंडर से भी अपना राशिफल चेक कर सकते हैं।

4. अलग अलग एप के माध्यम से

टेक्नोलॉजी के बढ़ते प्रयोग के कारण आजकल बहुत से साफ्टवेयर उपलब्ध हैं जिसमें आप अपना राशिफल जान सकते हैं। Astrologer जैसे मोबाइल एप्लीकेशन तो आपको सीधे ज्योतिष शास्त्रियों से डायरेक्ट बात करने की सुविधा भी उपलब्ध कराता है जहां से आप किसी पंडित से बात कर अपना राशिफल जान सकते हैं। इसी तरह के इंटरनेट पर और भी एप मौजूद है जिसे आप फोन पर इंस्टाल कर अपना भविष्यफल देख व जान सकते हैं।

FAQ

कुल कितनी राशियाँ होती है?

वैदिक ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कुल 12 राशियाँ होती है।

अपने नाम की राशिफल कैसे जाने?

सभी नामों के लिए अलग अलग राशिफल का निर्धारण किया गया है जिसमें राशियों के चिन्ह भी निर्धारित हैं। जो कि नाम मे शुरू होने वाले अक्षरों द्वारा सुनिश्चित किया जाता है। अपने नाम की राशिफल जानने के लिए आप ऊपर के पैराग्राफ को पढ़ सकते हैं।

मेष राशि वाले दुखी क्यों रहते हैं?

माना जाता है कि इस राशि वाले लोग भावुक होते हैं इसलिए सही निर्णय नहीं ले पाते जो कि उनके दुख का कारण बनता है।

सबसे शक्तिशाली राशि कौन सी है?

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मेष राशि को सबसे शक्तिशाली राशि माना जाता है। सबसे शक्तिशाली राशि होने की वजह यह सभी राशियों में सबसे पहले स्थान पर आता है।

सबसे कमजोर राशि कौन सी है?

मीन राशि को सबसे कमजोर राशि माना जाता है क्योंकि यह सभी राशियों में अंतिम पर है।

झूठ बोलने वाली राशि कौन सी है?

ज्योतिष विज्ञान कि मान्यता है कि सिंह राशि के लोग झूठ बोलने में ज्यादा माहिर है क्योंकि ये लोग स्थिति को अपने कंट्रोल में करना चाहते हैं इसलिए कभी कभी झूठ का सहारा ले लेते हैं।

Conclusion

आज हमने इस पोस्ट के माध्यम से आपको बताया कि आप कैसे अपना राशिफल जान सकते हैं । साथ ही हमने विषेकर 12 राशियों के नाम और चिन्ह के बारे में भी अपनो जानकारी दिया। उम्मीद है कि ज्योतिष विज्ञान की इस शाखा से सम्बंधित जो भी प्रश्न आपके दिमाग में रहे होंगे उसका उत्तर मिल गया होगा। अगर अभी भी आपके पास कोई प्रश्न है तो आप हमें कमेंट कर पूछ सकते हैं।

Rate this post
Share this post on social!

Kundan Sah

नमस्कार दोस्तों, मैं Kundan Sah, Sabhindimai.net का Technical Author & Founder हूँ. और में अपनी बात करू तो में एक Digital Marketer और Full Time Blogger हूँ। मुझे नयी नयी चीजे सीखना और सिखाने में बहुत अच्छा लगता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 + 5 =